Seo क्या है वेबसाइट seo कैसे करते है (seo kya hai in hindi)

Seo क्या है वेबसाइट seo कैसे करते है (seo kya hai in hindi) : नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है रमाशंकर और आज हम लोग seo के बारे में इस artical में सीखेंगे

Seo क्या है वेबसाइट seo कैसे करते है (seo kya hai in hindi) :

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है रमाशंकर और आज हम लोग seo  के बारे में इस artical में सीखेंगे अगर आप लोग bloging  करना चाहते हैं या फिर online platform पर आना चाहते हैं और online काम करके अच्छा खासा encome जनरेट करना चाहते हैं या कोई अन्य काम करना चाहते हैं online के माध्यम से तो आपको यह पता होना चाहिये कि seo कितने प्रकार का होता हूं seo kya hai तथा यह seo kaise काम करता है 
Seo क्या है वेबसाइट seo कैसे करते है (seo kya hai in hindi)
 "यह seo online से जुड़ी हुई शब्द है जो एक प्रकार की प्रक्रिया होती है वह online काम करने वालों के लिए होता है खास करके यह seo एक blogger के लिए होता है जो कि अपना contant online public  करता है और उसे लोगों तक पहुंचाने के लिए उस cantante का seo  करना पड़ता है यानी कि अगर हम लोग seo (full form) फुल फॉर्म की बात करें तो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (search engine optimization) seo का full form होता है"

 इससे क्या होता है कि आप लोगों ने  जब भी googale पर कोई भी प्रश्न पूछते हैं या कोई भी क्वेरी करते हैं तो आपको वहां पर टॉप टेन result दिखाई देते हैं वहां पर उस 10 result में आपके प्रश्न का उत्तर होता है जो कि काफी ज्यादा अच्छा cantante  लिखा होता है

 लेकिन दोस्तों आप बहुत ज्यादा अच्छा cantante लिख देंगे अगर आप उसका seo नहीं कर पाते हैं

 या नहीं करते हैं तो वह cantante Google के frist पेज पर नहीं आएगा यानी कि अगर आपके कंटेंट में दम है तब भी बिना seo किए गूगल के फर्स्ट पेज में आपका cantante या आपकी website first  rank नहीं कर सकती है और जब तक आपकी website आपका blog google के first page पर rank नहीं करेगा तब तक आपको benifit भी नहीं होने वाला है 

इसलिए आपको seo को समझना तथा इसको करना जानना चाहिए तथा seo बारे में पूरा जानकारी आपको होना चाहिए अगर आप लोग online  काम करना चाहते हैं एक blog  बनाना चाहते हैं या फिर आप लोग एक blogger  हैं तो दोस्तों अगर आप लोग एक नए blogger  हैं तो आपके लिए हम इस आर्टिकल में seo से रिलेटेड पूरा जानकारी शेयर करेंगे

 ताकि आप लोगों को अपना काम करने में काफी ज्यादा हेल्प मिल सके हम आपको बता दें कि इस आर्टिकल में हमने अभी तक इसके बारे में कुछ बेसिक जानकारियां बताई है अब हम लोग इसके बारे में गहन अध्ययन करेंगे

 जैसे कि आप लोगों को इसमें तमाम प्रश्नों का उत्तर मिलेगा की seo क्या होता है seo कितने प्रकार का होता है seo कैसे करते हैं तथा seo से रिलेटेड आपके मन में जितनी प्रश्न होंगे वह सब के सब क्लियर कर दिया जाएगा तो आप लोग इस पोस्ट को ध्यान से जरूर पढ़ते रहना

Seo क्या है (what is seo in hindi):

seo के बारे में हमने ऊपर बेसिक जानकारी का अध्ययन किया है यहां पर अब हम लोग seo को एक अच्छे से  एग्जांपल को ले करके समझेंगे कि seo क्या होता  है हम आपको बता दें कि अगर आप लोग बहुत सारे search engine  देखे होंगे जैसे कि yahoo, googale, Bing,  तथा अन्य बहुत सारे search engine है

 अगर आप लोग online business करते हैं मान कर चलिए आपका कोई शॉप है या फिर आपका कोई बिजनेस है जो कि ऑनलाइन के माध्यम से चल रहा है और अगर आप लोग चाहते हैं कि वह Google पर फर्स्ट पेज पर आए या किसी भी search engine के फर्स्ट पेज पर हमारा यह website dikhe ताकि ज्यादा से ज्यादा लाभ हो सके तो इसके लिए आप लोगों को पैसा pay करना पड़ता है अगर आप लोगों पैसा pay करते हैं Google को या किसी अन्य  search engine को तो वह आपकी website को फर्स्ट पेज पर दिखाएगी लेकिन इसके साथ साथ अगर हम बात करें

 कि बिना पैसे  खर्चा किए फ्री में आप लोग किस प्रकार से google के फर्स्ट पेज में जा सकते हैं तो वह यही एक प्रक्रिया है जिसका नाम है seo जिसके माध्यम से या seo करके अपनी website पर google पर फर्स्ट पेज में website ला  सकते हैं इसके लिए आपको पैसे की जरूरत नहीं पड़ेगी बल्कि आपके पास स्किल्स होना चाहिए कि किस प्रकार से seo करेंगे आप लोग घबराने की कोई भी बात नहीं है

 यहां पर इस आर्टिकल को आप पूरा एंड तक पढ़िए आपको पता चल जाएगा कि seo कैसे किया जाता है और seo कैसे करते हैं वैसे तो website इस समय  ज्यादातर wordpress या blogger पर  बनाई जा रही हैं पहला है blogger तथा दूसरा है wordpress हम लोग इन सभी चीजों के बारे में भी नीचे बात करेंगे कि इन दोनों के website में किस प्रकार से  seo किया जाता है तो आप लोगों को tension लेने की कोई जरूरत नहीं है और आप ध्यान से पोस्ट को पढ़ते रहिए

"Seo Kya hai" dusare shabdo me

Seo एक ऐसा तकनीकी है जिसके द्वारा आप फ्री में किसी भी वेबसाइट को गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक कर सकते हैं या फिर किसी अन्य सर्च इंजन के फ्रंट पेज पर रैंक कर सकते हैं Seo का मतलब होता है सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन मतलब की सर्च इंजन के हिसाब से अपने वेबसाइट को बनाना या सुधार करना जैसे कि गूगल है तो गूगल के कुछ अपने नियम है

 कि आप उन्हीं के हिसाब से जब अपनी वेबसाइट को ऑप्टिमाइज करेंगे सुधार करेंगे बनाएंगे तब जाकर आप की वेबसाइट गूगल मैं रैंक करेगा इसका मतलब यह होता है Seo मतलब की वेबसाइट को या ब्लॉक को सर्च इंजन के हिसाब से बनाना ताकि वह आसानी से आपके ब्लॉग वेबसाइट को समझ सके और गूगल के फर्स्ट पेज या अन्य सर्च इंजन के फर्स्ट पेज पर आ पाए 

Seo कितने प्रकार के होते हैं (kinds of seo)

Seo मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं

1. On Page seo

2.Of page seo

3. Local seo

1. On Page seo क्या है

On Page seo वेबसाइट के लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है On Page seo में आपको अपनी वेबसाइट के डिजाइन वेबसाइट का टाइटल अच्छे से कंटेंट लिखना वेबसाइट का लुक यूजर फ्रेंडली होना वेबसाइट को एक  रेस्पॉन्सिव टेंप्लेट में शिफ्ट करना वेबसाइट का टाइटल पोस्ट लिखने का तरीका कीवर्ड लगाने का तरीका यानी कि जो कार्य आप लोग दिखावे के लिए करते हैं या देखने में अच्छा लगता है

 और यूजर को आप की वेबसाइट पर run करना भी आसान होता है जिसे On Page seo कहते हैं जो पूरी तरह से आप की वेबसाइट पर दिखाई देता है पेज की स्पीड मतलब कि आप की वेबसाइट कितनी जल्दी फास्ट ओपन होती है यह सारी चीजें On Page seo के अंतर्गत आता है

On Page seo कैसे करते हैं

वेबसाइट speed

हम आपको बता दें कि आपके वेबसाइट का स्पीड काफी ज्यादा फास्ट होना चाहिए जिससे विजिटर आपके को साइट पर जल्दी से विजिट कर सके और किसी भी विजिटर को बोरिंग ना लगे कि आपकी वेबसाइट कब पेज खोलने में काफी ज्यादा टाइम लग जाएगा तो यूजर का टाइम वेस्ट होगा

 और वह आपका वेबसाइट छोड़कर चला जाएगा जिससे आपको बेनिफिट भी नहीं होगा अगर आपका वेबसाइट का लोडिंग समय पांच से 6 सेकेंड के अंदर load ho जाता है तो ठीक है अगर इससे ज्यादा टाइम लगता है तो यूजर छोड़ कर चले जाते हैं जिससे आपका ही नुकसान होता है तथा गूगल भी आपको धीरे-धीरे बाउंस करता चला जाता है और आप की रैंकिंग को नीचे कर देता है तो आपके वेबसाइट के लिए आपकी वेबसाइट की स्पीड काफी ज्यादा मायने रखती है इसके लिए आप लोगों को अपनी वेबसाइट का स्पीड बढ़ाना होगा

Seo fact: वेबसाइट का लोडिंग स्पीड कैसे बढ़ाएं

जैसा कि हमने आपको कहा है कि आप लोग अपनी वेबसाइट को स्पीड बनाकर रखना है मतलब कि अगर आपके वेबसाइट पर काफी ज्यादा विजिटर आते हैं या आप न्यू हो तब भी आपके पास वेबसाइट का लोडिंग स्पीड काफी ज्यादा अच्छा होना चाहिए

 इसके लिए आप लोग मोबाइल फ्रेंडली यह एमपी इंस्टॉल कर सकते हैं जो कि वर्ल्ड प्रेस पर काफी ज्यादा आसानी से आपको फ्री में मिल जाता है क्योंकि हम आपको बता दें कि अगर आप लोग एमपी इंस्टॉल कर लेते हैं तो आपका वेबसाइट मोबाइल में काफी ज्यादा फास्ट लोड होने लगेगा लेकिन अगर लैपटॉप की बात करें तो लैपटॉप में वह वैसा ही लोड होगा अगर आप लोग लैपटॉप में भी अपनी वेबसाइट का स्पीड बढ़ाना चाहते हैं तो अपनी वेबसाइट को अच्छे से कस्टमाइज करना मतलब कि वहां पर कोई भी फालतू चीज नहीं होनी चाहिए वेबसाइट में कोई फालतू wight नहीं होना चाहिए

 जिससे आपकी वेबसाइट लोड होने में टाइम लगे आपको ज्यादा से ज्यादा कोशिश करनी है कि सिर्फ जरूरी चीजें ही वेबसाइट पर होनी चाहिए इसके साथ साथ आप लोगों को अच्छा होस्टिंग भी बाय करना चाहिए जिससे आपकी वेबसाइट का सरवर काफी ज्यादा फास्ट हो कभी होता है कि सरवर के कारण ही आपकी वेबसाइट लोड होने में टाइम लगती है

 इसके लिए आप लोगों को अच्छा होस्टिंग खरीदना  पड़ेगा जिसके लिए अच्छा खासा पैसा भी pay करना पड़ता है तो यह रहे आप लोग अपनी वेबसाइट का स्पीड बढ़ा सकते हैं क्योंकि काफी ज्यादा आसानी है

रेस्पॉन्सिव थीम seo

 अगर आप लोग एक ब्लॉगर हैं तो आपके लिए सबसे बुद्धिमानी का काम यही होता है कि आप लोगों को एक अच्छा टेंपलेट अपनी वेबसाइट पर एक्टिवेट करना चाहिए जिसका लोडिंग स्पीड काफी ज्यादा अच्छा हो मतलब कि बहुत सारे लोग होते हैं कि किसी भी टीम का डिजाइन देखते हैं जो कि काफी ज्यादा अच्छा रहता है उसमें स्लाइडर लगा रहता है और ने बहुत सारी चीज है उस वेबसाइट में लगे रहती है

 जिससे वह देखने में अच्छा लगता है और वह उसी वेबसाइट को मतलब उसे टेंपलेट को यूज कर लेते हैं जिससे उनकी वेबसाइट स्पीड है वह काफी ज्यादा तक नीचे हो जाती है इससे क्या होता है कि उनकी वेबसाइट तो गूगल में रैंकिंग में फर्क पड़ती है अगर आपका वेबसाइट का कोई पेड़ गूगल में रैंक भी कट जाता है और यूजर आता है उस पर क्लिक करता है और कौन 6 सेकंड तक वेट करेगा अगर आपकी वेबसाइट नहीं खुलता है तो वह स्कीप करके आपकी वेबसाइट चले जाएगा जिससे आपको कोई भी लाभ नहीं होने वाला है तो आप ज्यादा से ज्यादा कोशिश कीजिए कि एक सिंपल थीम चुनिए जो कि काफी ज्यादा सिंपल होना चाहिए क्योंकि वेबसाइट कंटेंट से रैंक होती है डिजाइन से नहीं तथा वह थीम अच्छा होना चाहिए

 मतलब कि कोई नूलगठिन नहीं होना चाहिए अगर आप कोई टीम बाय करते हैं तो और अच्छी बात है या अगर आप लोग फ्री थी उन्हें स्टाइल करते हैं तो आप लोग से तो हमारी यही रिकमेंडेशन है कि वर्डप्रेस पर उपलब्ध थीम को ही अपनी वेबसाइट पर एक्टिवेट करें उसमें से आप लोगों को अच्छे से कस्टमाइज करना है जैसे आपकी वेबसाइट का स्पीड बना रहे हम आपको पहले ही बता चुके हैं अगर आप अपनी वेबसाइट पर बहुत सारे प्रकार के स्लाइडर लगा देते हैं या अन्य सारी प्रक्रिया करने लगते हैं तो आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड है वह काफी ज्यादा कम हो जाते हैं

वेबसाइट के टाइटल टैग

हम आपको बता दें कि आप लोग अपनी वेबसाइट पर टैग यानी कि जो टाइटल होता है अपनी वेबसाइट का वह काफी ज्यादा कम रखें मतलब कि आपको 65 वर्ड से ज्यादा नहीं रखना है जो कि गूगल के हिसाब से है मतलब यह है कि अगर आप लोग 65 वर्ड से ज्यादा रखते हैं अपनी वेबसाइट का टाइटल तो गूगल में सिर्फ 65 वर्ड ही टाइटल में शो करता है बाकी के सो नहीं करते तो इसका क्या फायदा इसीलिए हमारा रिकमेंडेशन yahi है कि आप लोग 65 वर्ड के टाइटल को अपनी वेबसाइट भी यूज़ करें

वेबसाइट में कीवर्ड लगाना

हम आपको बता दें कि सबसे पहले आप लोग जब वेबसाइट बनाएंगे तो आपको अपनी वेबसाइट का seo करना है यानी वर्डप्रेस में जा करके अपनी वेबसाइट पर seo करेंगे अगर आप लोग तो वहां पर वेबसाइट बनाते समय आपको वेबसाइट का डिस्कशन मांगेगा जहां पर आपको अपनी वेबसाइट से रिलेटेड कुछ कीवर्ड देने हैं जैसे कि अगर आपकी वेबसाइट टेक्नोलॉजी पर है तो आप लोग 

 डिस्क्रिप्शन कुछ इस प्रकार से दे सकते हैं कि आपके वेबसाइट के कीवर्ड भी उस डिस्क्रिप्शन में आ जाए जिससे आप की रैंकिंग की बढ़ेगी इसके साथ साथ हम आपको बता दें कि वेबसाइट में कीवर्ड लगाना seo के जरिए हो जाता है लेकिन इसके साथ-साथ अगर हम लोग कंटेंट की बात करें तो आप लोग एक अच्छा और पावरफुल कंटेंट लिखना इसके साथ-साथ कीवर्ड को अच्छी तरह से यूज करना ताकि गूगल को यह पता चले कि यह वेबसाइट me इस क्वेश्चन का आंसर है इसीलिए आप लोग कीवर्ड को यूज करें टाइटल टैग use करें अन्य हेडिंग में अपने keywords यूज़ करें तथा अपने कंटेंट के बीच में भी कीवर्ड को यूज करें

मतलब यह कि आप लोग उसकी वर्ल्ड को अपने कंटेंट में कुछ इस प्रकार से यूज करना है कि गूगल को भी आपका पोस्ट अच्छे से लगे कि आपने अपने पोस्ट में कहीं पर कीवर्ड ज्यादा नहीं लगाया है यानी कि आपने स्पैमिंग नहीं किया है

तथागत अगर कोई गुजर आपके वेबसाइट को पढ़ रहा है आपके ब्लॉग को पड़ रहा है तो वहां पर उसको भी पढ़ने में कोई दिक्कत ना हो आपकी कीवर्ड की वजह से तो आप लोगों को अपना की वर्ल्ड भी कुछ अच्छी तरह से प्लेसमेंट करना है इसके लिए मैं अलग से एक पोस्ट अच्छे से लिखूंगा तो दोस्तों आपके वेबसाइट के लिए कि वर्ल्ड काफी ज्यादा अच्छा मायने रखता है

कीवर्ड रिसर्च (keyword research in hindi )

हम आपको बता दें दोस्त जब भी आप अपनी वेबसाइट पर कोई भी पोस्ट लिखना होता है तो आप वैसे ही किसी भी पोस्ट को ना लिख दें यानि कि जो आप जानते हैं बस आप उसको लिखे जा रहे हैं भरे जा रहे हैं इससे आपकी वेबसाइट पर ranking बिल्कुल भी नहीं होने वाला है इसके लिए आप लोगों को कीवर्ड का अच्छी तरह से रिसर्च करना पड़ेगा इसमें बहुत सारी फैक्टस होती है कि कीवर्ड का सर्च वॉल्यूम कितना है मतलब कि अगर कोई क्वेश्चन गूगल पर होती है तो वह 1 महीने में कितनी बार पूछी जाती है तथा उसकी कीवर्ड पर उस क्वेश्चन पर कितना ज्यादा कंपटीशन है यह भी काफी ज्यादा मायने रखता है आप अगर शुरुआत में 

ब्लॉगिंग कर रहे हैं तो आप लोगों को कम कंपटीशन यानी कि जिस भी क्वेश्चन कर कम कंपटीशन होगा उस क्वेश्चन पर आपको काम करना चाहिए भले ही आपके क्वेश्चन का सर्च वॉल्यूम कम हो लेकिन फिर भी आप को कम कंपटीशन वाले क्वेश्चन को ही चुनना है इसके साथ-साथ अगर आप लोग पैसे कमाने के लिए ऐडसेंस का उपयोग करते हैं तो आप लोगों को सीपीसी का भी ध्यान रखना चाहिए कि आप लोग इस प्रश्न का उत्तर दे रहे हैं उसका सीपीसी कितना है इसके लिए आप लोग गूगल कीवर्ड प्लानर कर सकते हैं वहां पर आपको कंपटीशन भी बताया जाएगा और सीपीसी भी बताया जाएगा तो आप इस अच्छे टूल का उपयोग करके कीवर्ड सर्च कर सकते हैं 

और उसके बाद में आप उस पर उस टॉपिक पर कंटेंट लिखें इसके साथ साथ हम आपको बता दें कि बहुत सारे मार्केट में कीवर्ड रिसर्च टूल जिसकी मदद से आप लोग काफी ज्यादा आसानी से ढूंढ सकते हैं लेकिन गूगल कीवर्ड प्लानर टूल है जिसको आप लोग उपयोग कर सकते हैं अगर आप लोग अभी नए नए आए हैं तो अगले स्टेप बारे में बात करते हैं

External linking

हम आपको बता दें दोस्तों की किसी भी वेबसाइट को हैक करने के लिए या फिर उस वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक बढ़ाने के लिए इंटरनल लिंग लिखी थी काफी ज्यादा जरूरी होता है जो कोई आप अपनी वेबसाइट के पोस्ट में आपको जरूर इससे करना ही चाहिए इंटरनल लिंकिंग इसके लिए आप लोग काफी ज्यादा अच्छे से कीवर्ड कर लिंकिंग कर सकते हैं

 मतलब यह कि अगर आपके पोस्ट में कोई ऐसा कि वर्ड है जिस केवट के बारे में आपने बताया है

 तो उसकी वर्ल्ड को आप अपनी उस पेज के साथ लिंक कर दीजिए या फिर आप लोग रीड मोर का ऑप्शन दे करके आप लोग अपनी वेबसाइट के दूसरे पेज का लिंक दे सकते हैं इससे होता क्या है कि अगर आपके एक पोस्ट पर कोई भी पढ़ने आता है तो उसे दूसरे पोस्ट का भी लिंक देखने को मिल जाता है अगर वह बंदा उसके बारे में जानकारी लेना चाहता तो वह उसको भी पड़ सकता है इससे आपकी वेबसाइट कटरा की इंडियन होगा और आप की website athouty भी बढ़ जाएगा

Website page url 

हम आपको बता दें कि आप अपने वेबसाइट का जो पेज यूआरएल होता है वह काफी ज्यादा कम रखी यानी कि जितना हो सके उतना ज्यादा आप अपनी वेबसाइट का वार है यानी की वेबसाइट के पेज का यूआरएल कम रखने की कोशिश कीजिए कि इससे क्या होगा कि आपका वेबसाइट के पेज का जो लिंक होता है वह काफी ज्यादा अच्छा होगा और गूगल में भी रैंक करने के चांस ज्यादा बढ़ेंगे

Of page seo  क्या है

जैसा किए हैं दोस्तों हम लोगों ने अभी तक ऊपर On Page seo के बारे में लिखा है   On Page seo एक ऐसा seo  है जो लोगों को दिखाई देता है और लोगों को उपयोग करने में आसानी होती है लेकिन Of page seo एक ऐसा seo है जो दिखाई नहीं देता है वह सिर्फ सर्च इंजंस को ही पता होता है और उन्हें ही दिखाई देता है मतलब यह कि वह यूजर्स को नहीं देख पाते हैं 

और अगर आप Of page seo करते हैं तो आपकी वेबसाइट का अथॉरिटी भी बढ़ेगा और काफी ज्यादा अच्छे रैंकिंग ही आपकी वेबसाइट की होगी

Of page seo  कैसे करें

हम आपको बता दें दोस्तों की ऑफ के जैसी हो मैं आपको ज्यादा कुछ नहीं करना होता है क्योंकि इसमें कोई भी टेक्निकल भी नहीं होता है इसमें आपको अपनी वेबसाइट को एक दूसरी वेबसाइट के साथ लिंक करना होता है जिसको आप बैकलिंक्स सुने होंगे यानी कि आपको अपने न्यू वेबसाइट का बैक लिंक बनाना पड़ेगा अपने से बड़ी वेबसाइट उसे जैसे कि अगर आप अपने बच्चे बड़ी व साइटों से बैकलिंक बनाते हैं तो आपकी वेबसाइट काफी ज्यादा अथॉरिटी अगेन कर लेगी और इसके साथ साथ है 

गूगल के नजर में भी आपकी वेबसाइट बड़ी लगने लगेगी मान कर चलो कि अगर आप लोग किसी बड़े आदमी से संबंध बनाते हैं तो आप भी उन्हीं बड़े लोगों के कैटेगरी में जोड़े जाते हैं मतलब यह कि अगर उस बड़े आदमी से कोई मिलने जाता है तो आपको भी site में देख कर बड़ा ही समझता है या फिर उनका खास समझता है इसीलिए ऐसा सेम ऑनलाइन में होता है कि अगर आप विकिपीडिया से देख लेते हैं तो वह एक अच्छी वेबसाइट है अगर गूगल साइट पर जाता है

 crawl  करने के लिए तो आपकी वेबसाइट को भी देखता है जिससे आपकी वेबसाइट के अथॉरिटी बढ़ती है और गूगल के नजर में भी आपकी साइट की काफी ज्यादा अच्छी होती है जिससे आपकी वेबसाइट का रैंकिंग काफी ज्यादा अच्छा बढ़ जाता है इसलिए आप लोग अगर नए ब्लॉगर है तो आप लोग कंटेंट भी लिखे साथ साथ में आपको वेबसाइट का बैकलिंक भी बनाना अनिवार्य है

1. Submit all search engine your website

हम आपको बता सकते हो कि अगर आप अपनी वेबसाइट को नहीं बनाते हैं तो आपको सभी सर्च इंजन में सबमिट करना पड़ता है जैसे कि गूगल याहू बिंग एंड एक्स तथा अन्य सर्च इंजन में आपको अपनी वेबसाइट को सबमिट करना पड़ेगा जिससे आपकी वेबसाइट पर काफी ज्यादा अच्छे अच्छे ट्राफिक आ सक

2. Submision dairactry

इसमें क्या होता है कि आप लोग अपनी वेबसाइट को डायरेक्टर सभी सर्च इंजन में सबमिट कर सकते हैं अगर आप लोग इस लिंक पर जाकर के और अपनी वेबसाइट खोल लिंक कर देते हैं तो जितने भी सर्च इंजन है सारे में ऑटोमेटेकली आपका वेबसाइट लिंक हो जाएगा और आपको वहां से एक बैकलिंक्स को मिलेगा और ट्राफिक भी वहां से आपको मिलने का चांस काफी ज्यादा अच्छे से बढ़ जाता है

3. Post likhna ( guest post) 

हम आपको बता दें कि आप लोगों को किसी हाई अथॉरिटी वेबसाइट वाले 2 मिनट पर एक पोस्टर लिखना पड़ेगा या आप लोग 2:00 से 3:00 या चाहे जितना पोस्ट लिख सकते हैं यह गेस्ट पोस्ट लिखने का सभी वेबसाइट अलाउड नहीं पड़ती है बहुत सारी वेबसाइट गेस्ट पोस्ट लिखने का पैसा चली चार्ज करती है जिसके लिए आप लोगों को पैसा भी देना पड़ सकता है लेकिन आपके बच्चे अटका ऐसी वो काफी ज्यादा अच्छा हो जाएगा तो आप लोग गेस्ट पोस्ट अच्छी अच्छी वेबसाइट पर लिखना पसंद करें

4.क्वेश्चन तथा आंसर वाली वेबसाइट से back link

हम आपको बता दें कि दो सारी ऐसी वेबसाइट है जाना से आप लोग क्वेश्चन का आंसर दे करके अपनी वेबसाइट पर ट्रक ला सकते हैं तथा बैटिंग गोपी जनरेट कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट का डीएपी अभी बढ़ा सकते हैं इसके लिए आप लोगों को जैसे गोरा हो गया अन्य बहुत सारी वेबसाइट हैं जहां से आप लोग क्वेश्चन और आंसर का खेल खेल सकते हैं तथा अपनी वेबसाइट के अथॉरिटी बढ़ा सकते हैं

5. अगर हम लोग सोशल मीडिया की बात करो तो आता है फेसबुक इंस्टाग्राम टि्वटर फोटो फेसबुक में बहुत सारे ऐसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जहां से आप लोगों की वेबसाइट का लिंक करके तथा पोस्ट को शेयर करके भरकर करा सकते हैं और आपकी वेबसाइट का भी बढ़ेगा क्योंकि आप लोग उस पर अपना लिंक शेयर कर रहे हैं और वह एक प्रकार का बन जाता है

6. Pinterest

अगर आप लोग अपनी वेबसाइट के पेज में कोई अच्छा सा इमेज डालते हैं तो उसको आप लोग तीन कर सकते हैं मतलब कि पिंटरेस्ट पर आप लोग उसको शेयर कर सकते हैं और अच्छा खासा ट्राफिक आ सकते हैं ट्राफिक नहीं आएगा तो आपके वेबसाइट का आज athoury यानी कि आपको वहां से बेहतरीन backlink मिलेगा

Local seo किसे कहते हैं और कैसे करते हैं

लोकल ऐसे ऐसे होता है जिससे आपके आसपास के और इन सब को आप लोग टारगेट कर सकते हैं यानी कि अगर आपका कोई बिजनेस है और आप लोग अपने आसपास अपने गांव के आसपास या अपने शहर के आसपास के लोगों को टारगेट करना चाहते हैं तो आप वहां के नाम से उसका ऐसी वो कर सकते हैं जिससे आपको काफी ज्यादा बेनिफिट होने वाला है यानी कि लोकल ऐसी हो आपको लोकल ऑडियंस के लिए होता है तो आप हो चलिए इस वीडियो को कुछ उदाहरण के जरिए समझते हैं

हम आपको बता दें कि लोकल ऐसी हो सिर्फ आप लोकेशन वाइज ऑडियंस को टारगेट कर सकते हैं मतलब कि अगर आप जल के ऑडियंस के लिए कुछ बनाए हैं या कुछ बनाना चाहते हैं या उनके लिए आपने कुछ लिखा है तो आप दिल्ही को ही टारगेट कर सकते हैं जिसे लोकल seo कहते है

Seo की मुख्य जानकारी

अगर लोग सोच इंजन ऑप्टिमाइजेशन की बात करें तो यह बहुत बेसिक सा होता है जो आपको अपनी वेबसाइट और ब्लॉग के लिए करना होता है तो चलिए हम लोग यहां पर ऐसे हैं कि आपको शुरुआत में क्या करना है और कैसे करना है ताकि आपका ऐसी वह कंप्लीट ऐसी वो बन जाए यहां पर अभी तक हमने बात किया है किया कैसे काम करता है तथा यह कितने प्रकार के होता है अब हम बताएंगे कि आप अपनी वेबसाइट पर किस प्रकार से बहुत ही आसानी के साथ स्टेप बाय स्टेप कर सकते हैं
  •  Backlink
  • Meta tag
  •  Description
  • Tital tag
  • reponsiv theme

1.Backlink क्या है और कैसे बनाते है seo fact

 Backlink क्या है तथा Backlink कैसे बनाते हैं आज हम लोग इसे ही बारे में बात करेंगे और Backlink किस प्रकार से आपके साइट को ग्रो करने में तथा आपके वेबसाइट का अथॉरिटी बढ़ने में किस प्रकार से मदद करते हैं जिससे गूगल आपके वेब को जल्दी से जल्दी रैंकिंग देना शुरू कर देता है हम आपको बता दें दोस्तों की seo का यह बहुत बड़ा पार्ट होता है

 Backlink बनाना आपको किसी दूसरे वेबसाइट पर जाकर के अपने वेबसाइट के लिंक को देना होता है या सबमिट करना होता है यहां पर बहुत सारी वेबसाइट है फ्री में आपको Backlink दे रही है लेकिन अगर बात करें तो बहुत सारी वेबसाइट पैसे ले करके आपको Backlink प्रोवाइड कर रही है

 जो आपके वेबसाइट के लिए काफी ज्यादा हेल्पफुल होगा गूगल रैंकिंग में आप अपने वेबसाइट का Backlink जितना जल्दी जितना ज्यादा और जितनी अच्छी वेबसाइट से जितना जल्दी आप बना लेंगे उतनी ही जल्दी आपको गूगल में रैंकिंग मिलना स्टार्ट हो जाएगा 

हमारे कहने का मतलब यह नहीं है कि अगर आप केवल बैकलिंक बना लेते हैं बस आपका वेबसाइट rank होने लगेगा यहां पर आपको क्वालिटी कंटेंट लिखने के साथ-साथ अपने साइट का Backlink भी क्रिएट करना होता है जिससे आपकी वेबसाइट गूगल के टॉप टेन पेज में आज की वेबसाइट दिखाई देती है

2.  Backlink कैसे बनाये और किस वेबसाइट से

आप लोगों के दिमाग में यह एक बहुत बड़ी कन्फ्यूजन होगी कि आप लोग Backlink कैसे बनाएं तथा किस प्रकार की वेबसाइट से बनाना चाहिए यहां पर हम आपको बता दें दोस्तों की बहुत सारे ऐसे टूल होते हैं जो किसी भी वेबसाइट का अथॉरिटी बता देते हैं यहां पर आपको हाई अथॉरिटी वाली वेबसाइट से बैकलिंक लेना है 

अगर आप लोग कोई न्यू वेबसाइट से बैकलिंक लेते हैं या किसी ऐसे 10 साइड का बैटरी पर लेते हैं जिसकी अथॉरिटी एकदम लो है तो आपके भी वेबसाइट का रैंकिंग को डाउन कर सकता है इसीलिए आप लोग ध्यान रखें भले ही आप लोग एक दिन में एक ही बैकलिंक बनाए लेकिन जब भी बनाए वह हाई क्वालिटी का पर क्लिक बनाएं और डूब फॉलो बैक लिंक बनाएं 

हम आपको बता दें दोस्तों की बैटिंग के दो प्रकार का होता है एक दो खोलो और एक फॉलो बैक लिंक होता है यहां पर आपको बैकलिंक बनाने के लिए इन दोनों कौन से पूछना पड़ेगा जो हम आपको किसी दूसरे पोस्ट में बताएंगे या फिर आप यहां पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं आपको उस वेबसाइट से बैकलिंक लेना है जिसकी रैंकिंग गूगल में काफी ज्यादा आती है

 और उसका डोमेन scor को कम से कम 60 प्लस होना चाहिए या 50 प्लस होना चाहिए बैकलिंक बनाने का सबसे अच्छा तरीका बहुत सारी 10 फाइटर देती है कमेंट के छोरो आप लोग कमेंट करके साइट पर बैकलिंक बना सकते हैं या फिर विकिपीडिया जैसी दिग्गज वेबसाइट से आप लोग बैठ लिंक बना सकते हैं जिससे आप वेबसाइट का रैंकिंग काफी ज्यादा फास्ट होगी यानी जल्दी करो करोगी

3. Meta tag क्या है

मेटा टैग वेबसाइट के लिए एक प्रकार का डिस्क्रिप्शन होता है जो सर्च इंजन के पेज पर बताता है की  वेबसाइट के किसके बारे में है इसके साथ साथ हम आपको बता दें कि आपको मेटा टैग yeost seo  का उपयोग करते समय या किसी अन्य seo tool का उपयोग करते समय किया जाता है 

जो कि एक बार अपने वेबसाइट का metatag सेट कर दिया तो दुबारा चेंज नही करना पड़ता है यह मुख्य आपके डोमेन के लिए होता है  हमारे कहने का मतलब यह है कि जो पोस्ट होता है उसका का मेटा डिस्क्रिप्शन अलग होता है जब आप कोई पोस्ट लिखते हैं तो उसका भी अलग से सेट किया जाता  है और डिप्रेशन भी दिया जाता है लेकिन खास करके मेटा टैग आपके साइट के लिए करते हैं और पोस्ट के लिए डिस्क्रिप्शन करते हैं 

जो आपके वेबसाइट और पेज के बारे में कोई भी सर्च इंजन पर दिखाई देता  है तो आपके लिए यह काफी ज्यादा जरूरी होता है मेटा टैग में या पोस्ट करें आपके पोस्ट में पोस्ट डिस्क्रिप्शन जरूर होना चाहिए पोस्ट के लिए वही मेटा डिस्क्रिप्शन होता है जिससे  आपके seo में काफी ज्यादा बढ़ोतरी होगी

4 description कैसे  लिखे

डिस्क्रिप्शन का मतलब होता है कि बारे में मतलब कि किसी चीज के बारे में बताना तो दोस्तों वेबसाइट का डिस्क्रिप्शन का यही मतलब यह होगा कि आपको अपनी वेबसाइट के बारे में उसने बताना है जैसे कि नमस्कार दोस्तों आपको हमारी वेबसाइट पर टेक्नोलॉजी से रिलेटेड हॉलीवुड हॉलीवुड डब्बड मूवी आज देखने को मिलेगी मतलब कि आप को कुछ इस प्रकार से केवल को यूज करना है कि आपके वेबसाइट के डिस्क्रिप्शन में था कि जिस नीति पर आप लोग काम कर रहे हैं

 वह केवल आज के वेबसाइट के डिस्क्रिप्शन में जरूर आना चाहिए इससे आपकी वेबसाइट गूगल में काफी ज्यादा रैंकिंग पा सकती है ताकि गूगल को भी पता है आपकी वेबसाइट के बारे में कि आप क्या लिखते हैं और क्या करते हैं यहां पर आपको अपने वेबसाइट को शुरुआत में बनाते समय मेटा टैग और डिस्क्रिप्शन देना पड़ता है जो मेटाटेक होता है वह आपके वेबसाइट का मेटा टैग आपके वेबसाइट को ट्राफिक लाने में तथा सर्च इंजन को समझाने में काफी ज्यादा हेल्पफुल होता है अगर इसको सुनके बात करें तो डिस्क्रिप्शन सर्च इंजन तथा यूजर्स को अपनी तरफ

 अट्रैक्टिव करने की कोशिश करता है इसीलिए आप लोगों को डिस्क्रिप्शन काफी ज्यादा ध्यान में रखकर लिखना चाहिए ताकि उसको पढ़ कर ही उजाड़ इंप्रेस हो सके और आपके वेबसाइट या आपके पोस्ट पर जल्द से जल्द आने की कोशिश करें तो आपको डिस्क्रिप्शन चाहे आप पोस्ट कर रहे हो या अपने मैन वेबसाइट का डिस्कशन उसको अच्छे से लिखना चाहिए

 जिससे वह अट्रैक्टिव गूगल के पेज पर आपका डिस्टर्ब होने वाला है या किसी अन्य होगा इसीलिए आप लोगों को या ध्यान में जरूर रखना चाहिए कि आप ही ज्यादा अट्रैक्टिव लिखना चाहिए जिससे आपके साइट का काफी ज्यादा ढंग ग्रो से हो जाएगा

5. Tital tag क्या है

हम आपको बता दें दोस्तों यहां पर टाइटल टैग क्या होता है आज के बोर्ड के लिए तथा आपके वेबसाइट के लिए यहां पर 200 आपको टाइटल टाइड आपके वेबसाइट का भी देना होता है और आपके पोस्ट का भी देना होता है तो आपको किस प्रकार से एक था टाइगर टाइम देना है और कितने वर्ल्ड का होना चाहिए 

आपकी वेबसाइट का टाइटल ट्रैक तो हम लोग उन्हीं चीजों के बारे में बात करेंगे हम आपको बता दें दोस्तों की अगर आप अपने वेबसाइट का टाइटल टैग डाल रहे हैं तो ज्यादा से ज्यादा आप कोशिश कीजिए कि आप सिर्फ और सिर्फ आपने वेबसाइट का जन्म नाम होता है आप वही डालिए या फिर आप पहले अपनी वेबसाइट का नाम लिखने के बाद में वहां पर ब्रैकेट लगा कर के अपने वेबसाइट का टॉपिक लिख सकते हैं या करें लिख सकते हैं 

जैसा कि आप लोगों ने बहुत सारी साइड में लिखा होगा कि आगे वेबसाइट का नाम होता है और पीछे वेबसाइट के बारे में थोड़ा सा लिखा होता है टाइटल में ही वेबसाइट की चीज के बारे में लिखा होता  है बंदा देख कर ही पता लगा लेता है तथा दूसरा जो होता है वह आपके पोस्ट या content लिए होता है जो गूगल में रहता है 

यह काफी ज्यादा जरूरी होता है आपके लिए हम आपको बता दें कि अगर आप कंटेंट का टाइटल टैग कुछ चीजों को ध्यान में रखते हुए नहीं करेंगे तो आप भी जब साइड का पोस्टर रहकर होने से वंचित रह जाएगा जिसमें आपको करना क्या है 

कि आपको अपनी वेबसाइट को टाइटल देने के बाद में जब आप पोस्ट लिखना प्रारंभ करते हैं तो आप जब भी कोई टाइटल दे तो उसका प्रॉपर सेट करें कि इसका सर्च वॉल्यूम कितना है कंपटीशन कितना है हम इस बार रिंग कर पाएंगे या नहीं कर पाएंगे आप लोगों को बहुत सारी चीजें को ध्यान में रखने के बाद उस टाइटल टैग को आपको डालना चाहिए और ध्यान रहे कि आप कोई भी टाइटल बनाएं वह 60 वर्ड से ऊपर नहीं होना चाहिए 

लगभग 50 से 60 वर्ड गूगल में डाटा तो करता है जो कि अगर आप इतने ज्यादा लिखते हैं तो वह कोई भी काम का नहीं रहता है हालांकि ऐसा नहीं है कि बड़े वर्ल्ड वाले टाइटल गूगल में रहकर नहीं करते हैं सब करते हैं लेकिन जो गूगल की पॉलिसी है और गूगल से सो करने की स्टाइल है उसके अनुसार आप लोगों को 50 से 60 वर्ड का ही टाइटल रखना चाहिए

 अगर दिल की बात करें तो आपको 150- 170 word का होना चाहिए  आपका contant ई हॉप की एसएसपी लोग समझ गए होंगे

6.reponsiv theme क्या है

रेस्पॉन्सिव सेम देख कर के आप समझ ही गए होंगे लेकिन दोस्तों आप लोगों को इसके बारे में प्रॉपर नॉलेज होना जरूरी है हम आपको बता दें कि इस फोन से सिम हुआ सिम होता है जो किसी भी डिवाइस में उस डिवाइस के हिसाब से ओपन हो जाता है यानी कि खुल जाता है और उसको यूज करने में कोई भी परेशानी नहीं होती है जैसा कि हमारी एक वेबसाइट ब्लॉगर पर थी

 उसे जब हमने जियो के फोन में छोटे वाले फोन में ओपन किया बटन वाले फोन में तो उसमें भी वह उसी के स्क्रीन के हिसाब से प्रॉपर तरीके से ओपन हो गई यह एक अच्छी बात है कि कोई भी आपकी वेबसाइट को एक्सेस कर सकता है और जानकारी ले सकता है तथा आपको बेनिफिट भी प्रदान कर सकता है इसी के साथ साथ यहां पर बात आती है अगर हम लोग वर्डप्रेस की बात करें तो वर्ल्ड परस्पर ज्यादातर थे इस समय जो है वह रिस्पांस भी उपलब्ध होती है तो आप लोग वैसे रेस्पॉन्सिव का मतलब समझ गए होंगे कि जैसा जिसके पास गैजेट रहता है

 उसी के हिसाब से रिस्पांस करना मतलब कि उसी को उसी के हिसाब से बेनिफिट जाना होता है अभी भी बहुत सारे टेंप्लेट ऐसा है जिसका डिजाइन काफी ज्यादा अच्छा है और वह सिर्फ डेक्सटॉप पर ही आने के लैपटॉप पर ही अच्छे से ओपन होता है और मोबाइल पर ओपन नहीं होता है तो आजकल के दौर में इंटरनेट के लिए ज्यादातर मोबाइल यूज़ किया जाता है इंडिया में हो या फिर अदर कंट्री में यहां पर बात आती है

 यदि वो के मामले में तो गूगल आपको कभी भी रैंक नहीं करेगा अगर आपका रिस्पॉन्स रेपोसिव यानी टेंपलेट होना  है तो इसीलिए आप लोगों को कोशिश करें कि रेपोसिव थीम होना ही चाहिए   आपकी  वेबसाइट पर

Seo ki kahaniyan


बहुत सारे लोगों को दोस्तों मुझे लगता है कि Seo की कहानी भी नहीं पता होगी लेकिन यहां पर बात आती है कि आप लोगों को इसके बारे में प्रॉपर नॉलेज मिल जानी चाहिए ताकि हमारा इंडिया भी काफी ज्यादा और अन्य desh से डिजिटल मार्केटिंग में तेजी से आगे बढ़ सके यही हमारा बरसों से प्रयास रहा है 

तो आप लोग इसमें अगर उसके बारे में जानकारी लेने में कोई भी प्रॉब्लम हुई हो तो हमें इनफॉरमेशन जरूर कर देना है या  कमेंट में जरूर पूछना हम आपको उसका रिप्लाई दो घंटे के अंदर जरूर देंगे यहां पर Seo ki  कोई कहानी नहीं है 

बल्कि इससे जुड़ी कुछ बातें हैं जो हम आपको बताने जा रहे हैं हम आपको बता दें जो yahoo  सबसे पहले आया था जो कि अपना raj chala रहा था लेकिन इसी बीच में  Google आया तो  तो इतना ज्यादा स्मार्ट नहीं tha कोई भी बंदा अपने वेबसाइट पर कंटेंट डालकर गूगल में सबमिट कर देता था और उसकी पोस्ट बहुत ही जल्द rank हो जाती थी  

क्योंकि उस समय गूगल इतना एडवांस नहीं था और Seo के बारे में प्रॉपर नॉलेज नहीं था इसीलिए लोगों को सही कंटेंट भी नहीं मिल पा रहे थे 

जैसे कि अगर हमने कंटेंट में कुछ भी लिख दिया और उसका टैग और टाइटल अच्छे से दे दिया जिसका सर्च वॉल्यूम ज्यादा है तो वह गूगल उसको analysis nahi कर पाता था और वह लोगों के सामने उसको रख देता था इससे काफी ज्यादा बुरा इफेक्ट पड़ने लगा था लेकिन इसके साथ-साथ जब गूगल के नए-नए एल्गोरिथ्म और नए नए अपडेट आने लगे तब सारी ब्लॉगर की ब्लॉगिंग धीरे-धीरे गायब होने लगी लेकिन यहां पर जो अच्छे ब्लॉगर थे 

जिन्होंने जानकारी देने के लिए ही bloging start किया था वह लोग को यहां पर कोई भी फर्क नहीं होने वाला है क्योंकि गूगल से जानकारी के लिए ही बनाया गया है और जानकारी प्रोवाइडर के लिए ही बनाया गया है ताकि उस पर आवे और जानकारी de सकते हैं

 और जानकारी ले सकते हैं इस प्रकार से गूगल हर 6 महीने में हमेशा अपडेट निकालता रहता है अपडेट का कोई टाइम नहीं होता है और जब भी chahe update निकलता है अगर कोई रैंकिंग के धोखे से करता है तो उसकी भी रैंकिंग गिर जाती है और अच्छे कंटेंट ऊपर आ जाते हैं 

 हम आपको बता दें कि एसडीओ का कोर्स आपको कभी भी नहीं करना चाहिए क्योंकि यह कोर्स हमेशा के लिए नहीं होता है आज के डेट में कुछ और चल रहा है तो गूगल पर कुछ और अपडेट जाएगा तो कल कुछ और चलने लगेगा इसीलिए आप लोगों को इस चीज के बारे में proper knowledge तभी हो पाएगी जब आप इस चीज को खुद से प्रैक्टिस करेंगे 

और बार-बार करेंगे तब जाकर आपको एक अच्छी नॉलेज मिल पाएगी इस फील्ड से रिलेटेड तो मैं आशा करता हूं कि आप लोग समझ गए होंगे कि गूगल किस प्रकार से धीरे-धीरे स्मार्ट होता जा रहा है हम आपको बता दें कि पहले जब गूगल शुरुआत में आया था तो उसको एक मिलियन पेज को कॉल करने में कम से कम 3 से 4 महीने लग जाते थे

 लेकिन यहीं पर आज के डेट में 2 से 3 मिनट के अंदर एक मिलियन page crawl कर लेता है जो कि काफी ज्यादा स्मार्ट हो चुका है तो आप भी स्मार्ट बनिए के साथ-साथ और स्मार्ट वर्क कीजिए जिससे आपको अच्छी बेनिफिट हो क्योंकि दोस्तों अगर आप स्मार्ट नहीं होंगे आप अच्छी जानकारी नहीं देंगे आप लोगों को अपनी तरफ आकर्षित नहीं करेंगे 

तो आप यहां से एक भी पैसा नहीं कमा सकते हैं लेकिन यहीं पर बात किया जाए कि अगर आप जानकारी देने के लिए इंटरनेट पर हैं तो आपका यहां पर नाम भी ऊपर तक जाएगा यानी कि आपकी पॉपुलर भी बढ़ेगी और धीरे-धीरे आप इसमें पैसे भी कमाने लगेंगे और जब आप पैसे कमाने स्टार्ट कर देंगे तब आप काफी ज्यादा पैसा कमा सकते हैं

हम आपको बता दें दोस्तों की यहां पर हमने Seo के बारे में आपको पूरी की पूरी जानकारी या गया है इस पोस्ट में अगर कोई जानकारी आज के हिसाब से अधूरी हो तो आप लोग हमें कमेंट में पूछ सकते हैं या contact कर सकते हैं हम आपको उसके बारे में प्रॉपर नॉलेज देंगे और आप हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर सकते हैं यह सभी जानकारी वीडियो और ऑडियो में पाने के  लिए

COMMENTS

Name

Bloging,1,Internet,1,Tamplet,1,Website Seo,1,
ltr
item
Smart india 2 » smart india 2 blog: Seo क्या है वेबसाइट seo कैसे करते है (seo kya hai in hindi)
Seo क्या है वेबसाइट seo कैसे करते है (seo kya hai in hindi)
Seo क्या है वेबसाइट seo कैसे करते है (seo kya hai in hindi) : नमस्कार दोस्तों मेरा नाम है रमाशंकर और आज हम लोग seo के बारे में इस artical में सीखेंगे
https://1.bp.blogspot.com/-Nt_0RlaDKVQ/XwyYiBC98iI/AAAAAAAADHg/1r7wIqQqDzoK-HQOLKRE9O1DVbUSgSyBwCLcBGAsYHQ/s200/Seo%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A5%258D%25E0%25A4%25AF%25E0%25A4%25BE%2B%25E0%25A4%25B9%25E0%25A5%2588%2B%25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2Bseo%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A5%2588%25E0%25A4%25B8%25E0%25A5%2587%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A4%25B0%25E0%25A4%25A4%25E0%25A5%2587%2B%25E0%25A4%25B9%25E0%25A5%2588%2B%2528seo%2Bkya%2Bhai%2Bin%2Bhindi%2529%25C2%25A0.webp
https://1.bp.blogspot.com/-Nt_0RlaDKVQ/XwyYiBC98iI/AAAAAAAADHg/1r7wIqQqDzoK-HQOLKRE9O1DVbUSgSyBwCLcBGAsYHQ/s72-c/Seo%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A5%258D%25E0%25A4%25AF%25E0%25A4%25BE%2B%25E0%25A4%25B9%25E0%25A5%2588%2B%25E0%25A4%25B5%25E0%25A5%2587%25E0%25A4%25AC%25E0%25A4%25B8%25E0%25A4%25BE%25E0%25A4%2587%25E0%25A4%259F%2Bseo%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A5%2588%25E0%25A4%25B8%25E0%25A5%2587%2B%25E0%25A4%2595%25E0%25A4%25B0%25E0%25A4%25A4%25E0%25A5%2587%2B%25E0%25A4%25B9%25E0%25A5%2588%2B%2528seo%2Bkya%2Bhai%2Bin%2Bhindi%2529%25C2%25A0.webp
Smart india 2 » smart india 2 blog
https://www.smartindia2.com/2020/07/Seo-kya-hai-in-hindi.html
https://www.smartindia2.com/
https://www.smartindia2.com/
https://www.smartindia2.com/2020/07/Seo-kya-hai-in-hindi.html
true
3455521809641801048
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy